Ram Charita Manas

Aranyaka Kanda

Atri Meeting and Praise

ॐ श्री परमात्मने नमः


This overlay will guide you through the buttons:

संस्कृत्म
A English

ॐ श्री गणेशाय नमः

Chaupai / चोपाई

सकल मुनिन्ह सन बिदा कराई। सीता सहित चले द्वौ भाई ॥ अत्रि के आश्रम जब प्रभु गयऊ। सुनत महामुनि हरषित भयऊ ॥

Chapter : 3 Number : 4

पुलकित गात अत्रि उठि धाए। देखि रामु आतुर चलि आए ॥ करत दंडवत मुनि उर लाए। प्रेम बारि द्वौ जन अन्हवाए ॥

Chapter : 3 Number : 4

देखि राम छबि नयन जुड़ाने। सादर निज आश्रम तब आने ॥ करि पूजा कहि बचन सुहाए। दिए मूल फल प्रभु मन भाए ॥

Chapter : 3 Number : 4

Sortha / सोरठा

सो. प्रभु आसन आसीन भरि लोचन सोभा निरखि। मुनिबर परम प्रबीन जोरि पानि अस्तुति करत ॥ ३ ॥

Chapter : 3 Number : 5

Chanda / छन्द

छं. नमामि भक्त वत्सलं। कृपालु शील कोमलं ॥ भजामि ते पदांबुजं। अकामिनां स्वधामदं ॥

Chapter : 3 Number : 6

निकाम श्याम सुंदरं। भवाम्बुनाथ मंदरं ॥ प्रफुल्ल कंज लोचनं। मदादि दोष मोचनं ॥

Chapter : 3 Number : 6

प्रलंब बाहु विक्रमं। प्रभोऽप्रमेय वैभवं ॥ निषंग चाप सायकं। धरं त्रिलोक नायकं ॥

Chapter : 3 Number : 6

दिनेश वंश मंडनं। महेश चाप खंडनं ॥ मुनींद्र संत रंजनं। सुरारि वृंद भंजनं ॥

Chapter : 3 Number : 6

मनोज वैरि वंदितं। अजादि देव सेवितं ॥ विशुद्ध बोध विग्रहं। समस्त दूषणापहं ॥

Chapter : 3 Number : 6

नमामि इंदिरा पतिं। सुखाकरं सतां गतिं ॥ भजे सशक्ति सानुजं। शची पतिं प्रियानुजं ॥

Chapter : 3 Number : 6

त्वदंघ्रि मूल ये नराः। भजंति हीन मत्सरा ॥ पतंति नो भवार्णवे। वितर्क वीचि संकुले ॥

Chapter : 3 Number : 6

विविक्त वासिनः सदा। भजंति मुक्तये मुदा ॥ निरस्य इंद्रियादिकं। प्रयांति ते गतिं स्वकं ॥

Chapter : 3 Number : 6

तमेकमभ्दुतं प्रभुं। निरीहमीश्वरं विभुं ॥ जगद्गुरुं च शाश्वतं। तुरीयमेव केवलं ॥

Chapter : 3 Number : 6

भजामि भाव वल्लभं। कुयोगिनां सुदुर्लभं ॥ स्वभक्त कल्प पादपं। समं सुसेव्यमन्वहं ॥

Chapter : 3 Number : 6

अनूप रूप भूपतिं। नतोऽहमुर्विजा पतिं ॥ प्रसीद मे नमामि ते। पदाब्ज भक्ति देहि मे ॥

Chapter : 3 Number : 6

पठंति ये स्तवं इदं। नरादरेण ते पदं ॥ व्रजंति नात्र संशयं। त्वदीय भक्ति संयुता ॥

Chapter : 3 Number : 6

Doha / दोहा

दो. बिनती करि मुनि नाइ सिरु कह कर जोरि बहोरि। चरन सरोरुह नाथ जनि कबहुँ तजै मति मोरि ॥ ४ ॥

Chapter : 3 Number : 7

Add to Playlist

Read Later

No Playlist Found

Mudra Cost :

Create a Verse Post


namo namaḥ!

भाषा चुने (Choose Language)

Gyaandweep Gyaandweep

namo namaḥ!

Sign Up to explore more than 35 Vedic Scriptures, one verse at a time.

Login to track your learning and teaching progress.


Sign In