Ram Charita Manas

Uttara Kanda

Naradji comes to ayodhya and returns to Brahmalok after praising Shri Rama.

ॐ श्री परमात्मने नमः


This overlay will guide you through the buttons:

संस्कृत्म
A English

ॐ श्री गणेशाय नमः

Doha / दोहा

दो. तेहिं अवसर मुनि नारद आए करतल बीन । गावन लगे राम कल कीरति सदा नबीन ॥ ५० ॥

Chapter : 11 Number : 61

Chaupai / चोपाई

मामवलोकय पंकज लोचन। कृपा बिलोकनि सोच बिमोचन ॥ नील तामरस स्याम काम अरि। हृदय कंज मकरंद मधुप हरि ॥

Chapter : 11 Number : 61

जातुधान बरूथ बल भंजन। मुनि सज्जन रंजन अघ गंजन ॥ भूसुर ससि नव बृंद बलाहक। असरन सरन दीन जन गाहक ॥

Chapter : 11 Number : 61

भुज बल बिपुल भार महि खंडित। खर दूषन बिराध बध पंडित ॥ रावनारि सुखरूप भूपबर। जय दसरथ कुल कुमुद सुधाकर ॥

Chapter : 11 Number : 61

सुजस पुरान बिदित निगमागम। गावत सुर मुनि संत समागम ॥ कारुनीक ब्यलीक मद खंडन। सब बिधि कुसल कोसला मंडन ॥

Chapter : 11 Number : 61

कलि मल मथन नाम ममताहन। तुलसीदास प्रभु पाहि प्रनत जन ॥

Chapter : 11 Number : 61

Doha / दोहा

दो. प्रेम सहित मुनि नारद बरनि राम गुन ग्राम । सोभासिंधु हृदयँ धरि गए जहाँ बिधि धाम ॥ ५१ ॥

Chapter : 11 Number : 62

Add to Playlist

Read Later

No Playlist Found

Mudra Cost :

Create a Verse Post


namo namaḥ!

भाषा चुने (Choose Language)

Gyaandweep Gyaandweep

namo namaḥ!

Sign Up to explore more than 35 Vedic Scriptures, one verse at a time.

Login to track your learning and teaching progress.


Sign In